शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दिया, पत्रकारों से वार्ता की

शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दिया, पत्रकारों से वार्ता की


भोपाल, मध्य प्रदेश।

शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया है, उन्होंने कहा हम जनादेश का सम्मान करते हैं। चुनाव के नतीजे आने के बाद मध्यप्रदेश के पंद्रहवें विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की पराजय की जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज राजभवन पहुंचे और यहां उन्‍होंने राज्‍यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल को अपना त्यागपत्र सौंप दिया।

शिवराज सिंह चौहान ने पत्रकारों से वार्ता की
फोटो : शिवराज सिंह चौहान फेसबुक

शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “विधानसभा चुनाव के परिणाम आने और मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र देने के बाद आज भोपाल स्थित बीजेपी मुख्यालय में पत्रकारों से वार्ता की और विचार साझा किया। मेरा सौभाग्य है कि 13 साल मुझे मध्यप्रदेश व प्रदेशवासियों की सेवा करने का अवसर प्राप्त हुआ। प्रदेशवासियों का असीम स्नेह सरकार और विशेष रूप से मुझे सदैव मिलता रहा। मैंने प्रदेश में सरकार मुख्यमंत्री बन कर नहीं बल्कि एक परिवार का सदस्य बन कर चलाने की कोशिश की।”

उन्होंने कहा, 7.5 करोड़ मध्यप्रदेशवासी मेरे परिवार के सदस्य हैं, उनका सुख मेरा सुख व उनका दु:ख मेरा दु:ख है। मैंने पूर्ण क्षमता के साथ अपनी टीम के साथ मिल कर प्रदेश का विकास और जनता का कल्याण करने की कोशिश की है, किसी भी प्रकार की कसर कहीं नहीं छोड़ी। मध्यप्रदेश में आने वाली सरकार से अपेक्षा है कि जनकल्याणकारी योजनाओं की निरंतरता बनी रहे।

शिवराज सिंह चौहान फोटो
फोटो : शिवराज सिंह चौहान

शिवराज सिंह चौहान ने कहा, नई सरकार बनाने वाली पार्टी अपने वचनपत्र के मुताबिक 10 दिनों में प्रदेश किसान भाइयों का कर्ज माफ करे। उन्होंने वादा किया है कि ऐसा न करने पर वे अपना मुख्यमंत्री बदल देंगे। हमारी अब विपक्ष की भूमिका है, जिसे हम सशक्त और रचनात्मक रूप से निभाएंगे और प्रदेश के चौकीदार की तरह निगरानी रखेंगे। जान कर मैं कभी करता नहीं, यदि मेरे मुख्यमंत्री रहने के दौरान मेरे काम, मेरे शब्दों या मेरे भाव से अंजाने में प्रदेशवासियों के मन को कष्ट हुआ हो तो मैं हृदय से क्षमाप्रार्थी हूँ।

शिवराज सिंह चौहान
फोटो : शिवराज सिंह चौहान/फेसबुक

शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहाकार्यकर्ताओं के परिश्रम को प्रणाम व केन्द्रीय नेतृत्व का आभार प्रकट करता हूँ। कार्यकर्ताओं व जनता के सहयोग, केंद्र सरकार के समर्थन के बावजूद हम अपेक्षित परिणाम प्राप्त नहीं कर सके इसके लिए मैं स्वयं को उत्तरदायी मानता हूँ। शायद कहीं न कहीं मेरी ही कमी रही जो मैं जनता की कसौटी पर खरा नहीं उतर पाया।


शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दिया, पत्रकारों से वार्ता की <